तितली महीने नहीं क्षण गिनती है, और उसके पास पर्याप्त समय होता है । – रविन्द्रनाथ टैगोर

तितली महीने नहीं क्षण गिनती है, और उसके पास पर्याप्त समय होता है । – रविन्द्रनाथ टैगोर