क्या नाम दूँ मैं अपनी मोहब्बत को कि ये तेरा सिवा किसी और से होती ही नहीं.

क्या नाम दूँ मैं अपनी मोहब्बत को कि ये तेरा सिवा किसी और से होती ही नहीं.