हाथ पर हाथ रखा उसने तो मालुम हुआ, अनकही बात को किस तरह सुना जाता है

हाथ पर हाथ रखा उसने तो मालुम हुआ, अनकही बात को किस तरह सुना जाता है